(STRICTNESS) ट्रैक पर रूटीन में होगी स्टाफ की रोटेशन, आई कार्ड पहनना होगा जरूरी, कामकाज पर आरटीए की होगी पैनी नजर

(STRICTNESS) ट्रैक पर रूटीन में होगी स्टाफ की रोटेशन, आई कार्ड पहनना होगा जरूरी, कामकाज पर आरटीए की होगी पैनी नजर

(कुमार अमित/विशाल मित्तल) : पंजाब रोडवेज के साथ बने हुए आधुनिक ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक के ऊपर काम करने वाले निजी कंपनी के कर्मचारियों एवं वहां रूटीन में होने वाले कामकाज पर निरंतर निगाह बनाए रखने के लिए सेक्रेटरी आरटीए बरजिंदर सिंह द्वारा कुछ जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।

सभी कर्मचारियों को आई कार्ड पहनना होगा जरूरी
प्राप्त जानकारी के अनुसार सेक्रेटरी आर.टी.ए द्वारा आदेश जारी किया गया है कि ट्रैक पर मौजूद सभी कर्मचारी अपना अपना आई कार्ड हर हाल में पहनेंगे। ऐसा आदेश इसलिए जारी किया गया है क्योंकि पूर्व में यह देखने को मिलता रहा है कि ट्रैक पर बड़ी गिनती में एजेंट कर्मचारियों के साथ बैठकर सरकारी रिकॉर्ड के साथ छेड़छाड़ करते रहे हैं और उनके काउंटर पर जाकर अपने-अपने काम करवाते रहे हैं। एजेंटों एवं स्टाफ के बीच अंतर साफ करने के उद्देश्य से आई कार्ड पहनना अनिवार्य किया जा रहा है।

6 महीने बाद ही एक सीट पर दोबारा काम कर सकेगा कोई कर्मचारी
इसके अलावा ट्रैक पर काम करने वाले निजी कंपनी के सभी कर्मचारियों की सीटों की अदला बदली नियमित अंतराल के ऊपर करने का भी आदेश जारी किया गया है। नए आदेश के अनुसार अब जो भी कर्मचारी 1 सीट पर 15 से 20 दिन काम करेगा दोबारा वह उस सीट के ऊपर कम से कम 6 महीने काम नहीं कर पाएगा। ऐसा करने के पीछे मुख्य कारण यह है कि एक ही सीट पर लंबे अंतराल तक काम करने वाले स्टाफ की एजेंटों के साथ स्थाई तौर पर सेटिंग बन जाती थी और वह उनके काम करके ऊपरी काली कमाई करने लगते थे। भ्रष्टाचार को रोकने के उद्देश्य से यह कदम उठाया जा रहा है।

ट्रैक पर लगे सीसीटीवी कैमरे का कंट्रोल रहेगा आरटीए के मोबाइल पर
आरटीए द्वारा ट्रैक पर होने वाले कामकाज पर पैनी निगाह बनाए रखने के उद्देश्य से एक अन्य आदेश जारी किया गया है जिसके चलते ट्रैक पर लगे सभी सीसीटीवी कैमरों का कंट्रोल अब उनके मोबाइल पर उपलब्ध रहेगा। इससे जहां ट्रैक पर होने वाली सभी गतिविधियों के ऊपर उनकी नजर बनी रहेगी इसके साथ ही ट्रैक पर जरूरी प्रबंधन का भी नियमित रूप से अवलोकन किया जा सकेगा।

कर्मचारियों के पास नहीं बैठ पाएगा कोई एजेंट
इस बात को लेकर भी आदेश जारी किया गया है कि किसी भी निजी कंपनी के कर्मचारी के पास कोई एजेंट आकर बैठ ना सके। अगर ऐसा होता है तो जिस कर्मचारी के पास एजेंट बैठा हुआ मिलेगा उस कर्मचारी के ऊपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

HNI RUBARU : SPECIAL INTERVIEW WITH DC JALANDHAR GHANSHYAM THORI, WATCH

Post a Comment

Translate »
error: Content is protected !!