रैवैन्यू अधिकारियाें की हड़ताल जारी, लगातार दूसरे दिन रजिस्ट्रेशन का काम रहा ठप्प

HNI-logo

रैवैन्यू अधिकारियाें की हड़ताल जारी, लगातार दूसरे दिन रजिस्ट्रेशन का काम रहा ठप्प

जनता हाे रही परेशान, सरकारी राजस्व का भी हाे रहा नुक्सान

 

(HNI ब्यूराे) – पंजाब रैवेन्यु अफसरस एसाेसिएशन द्वारा अपने पहले से तय कार्यक्रम के अनुसार 4 मई काे लगातार दूसरे दिन रजिस्ट्रेशन का काम ठप्प रखा गया। रैवेन्यु अधिकारी अपनी मांगाें के समर्थन में हड़ताल पर अड़े हुए हैं। जहां एक तरफ इस हड़ताल से आम जनता काे परेशानी उठानी पड़ रही है। वहीं दूसरी तरफ प्रदेश सरकार काे भी राजस्व का भारी नुक्सान उठाना पड़ रहा है।

कुछ लाेग जिन्हाेंने बैंकाें से लाेन ले रखा है, व अपने घर की रजिस्ट्री करवानी है, कुछ लाेगाें ने जमीन-जायदाद का साैदा किया हुआ है, और उसका समय भी पूरा हाे चुका है, ऐसे में उनका रजिस्ट्रेशन करवाना ज़रूरी है। कुछ लाेगाें के बुज़ुर्ग काफी बीमार हैं, व उन्हें अपनी वसीयत रजिस्टर करवानी है। ऐसे कई अन्य काम हड़ताल की वजह से नहीं हाे पा रहे हैं।

रजिस्ट्रेशन का काम पूरी तरह से ठप्प हाेने से प्रदेश सरकार काे राेज़ाना इस काम से हाेने वाले लाखाें रूपए के रैवेन्यु का भी नुक्सान उठाना पड़ेगा। काेराना संकटकाल के बीच प्रदेश सरकार की वित्तीय हालत पहले ही काफी पतली है, अगर अब रजिस्ट्रेशन से हाेने वाली आमदनी भी कुछ दिनाें के लिए रूक जाती है, ताे सरकार के लिए काफी बड़ी परेशानी का सबब बन सकता है।

मंगलवर काे जालंधर की सब-रजिस्ट्रार बिल्डिंग जहां राेज़ाना सैंकड़ाें लाेग अपने-अपने दस्तावेज रजिसटर करवाने के लिए आते हैं, वहां दूसरे दिन भी वीरानी छाई रही। दाेनाें अधिकारियाें के दफ्तर बंद रहे। वेटिंग हाल सुनसान देखने काे मिला। अधिकारियाें ने अपने दफ्तराें से दूरी बनाकर रखी। वहीं कुछ स्टाफ अपने पैंडिग काम भी निपटाते हुए देखा गया।

रैवेन्यु आफिसरज़ एसाेसिएशन जालंधर डिवीज़न के प्रधान मनाेहर लाल ने बताया,  कि लगभग 3 हफ्ते पहले ही सरकार काे लिखित रूप से इस संबधी सूचना प्रदान कर दी गई थी। मगर सरकार की तरफ से काेई कदम न उठाए जाने की वजह से व अपनी जान-माल की सुरक्षा काे देखते हुए मजबूरीवश उक्त कदम उठाना पड़ रहा है।उनका कहना है, कि एसाेसिएशन की तरफ से सरकार के पास कई बार अपनी मांगाें के समर्थन में निवेदन किए गए हैं। जिसमें चार्ज शीट काे ड्राप करना, एफआईआर रद्द करना, सरकारी वाहन व सुरक्षा प्रदान करना ताकि सरकारी कामकाज के दाैरान किसी भी अधिकारी काे काेई बाधा या परेशानी का सामना न करना पड़े। वित्तमंत्री व एफसीआर के साथ भी 21 अप्रैल, 2021 काे उक्त मुद्दाें पर बात की गई, मगर काेई परिणाम नहीं निकला। जिसके चलते मजबूरन एसाेसिएशन काे कड़ा रूख अख्तियार करना पड़ रहा है।

क्या हैं रैवेन्यु अफसरस की मांगे ?

किसी भी रैवेन्यु अधिकारी के खिलाफ काेई शिकायत, इंक्वायरी या क्रिमिनल केस रजिस्टर न किया जाए।

इसके लिए विभाग द्वारा रंगे हाथाें पकड़े जाने रे इलावा किसी भी सूरत में विजीलैंस काे एफआईआर के लिए सैंक्शन नहीं दी जानी चाहिए।

डीआरओ, तहसीलदार व नायब तहसीलादारें काे अदालत में केस विचाराधीन हाेने की सूरत में चार्जशीट करने के मामले में भी रिव्यु किया जाए।

सभी रैवेन्यु अधिकारियाें काे वाहन व पर्याप्त सुरक्षा प्रदान की जाए।

किसी प्रकार की वैकल्पिक व्यवस्था काे लेकर सरकार व प्रशासन की तरफ से नहीं आई काेई सूचना

पूरे पंजाब के रैवेन्यु अधिकारियाें द्वारा 2 दिन से पूरा कामकाज ठप्प करने के ऐलान के बीच सरकार व प्रशासन की तरफ से फिल्हाल काेई सूचना नही आई है, जिससे यह पता लग सके कि अगर ऐसी स्थिति बनती है, ताे किसी प्रकार की काेई वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी, या नहीं। जिससे आम जनता काे हाेने वाली परेशानी का हल किया जा सके।

1 Comment

Post a Comment

Translate »