Rare Case: जालंधर में 7 दिन के बच्चे को हुआ डेंगी, मेडिकल साइंस का दुर्लभ मामला

7 days old dengue patient

Rare Case: जालंधर में 7 दिन के बच्चे को हुआ डेंगी, मेडिकल साइंस का दुर्लभ मामला

रवि रौणखर, जालंधर

जालंधर में डेंगी का एक दुर्लभ मामला सामने आया है। एक 7 दिन के बच्चे को डेंगी की पुष्टि हुई है। पिम्स के चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉ. जतिंदर सिंह के पास जब 7 दिन की बच्ची को बुखार और शरीर पर लाल धब्बों के चलते लाया गया तो उन्होंने कई टेस्ट किए। मगर मामला उतना साधारण नहीं था जितना वह सोच रहे थे। डॉ. जतिंदर ने एचएनआई को बताया कि आम तौर पर बच्चे में इतनी कम उम्र में मच्छर के काटने से डेंगी नहीं होता।

DR JATINDER 1

डॉ. जतिंदर सिंह शहर के जाने माने चाइल्ड स्पेशलिस्ट हैं।

 

इस बच्चे का जन्म एक प्राइवेट अस्पताल में हुआ था। देखते ही हमें लगा कि यह न्योनेटल सेप्सिस का मामला है। उसके शरीर में उस वक्त 55000 सैल बचे थे। मगर अगले टेस्ट में जब प्लेटलेट काउंट 23000 रह गया तो हमें लगा कि इन लाल धब्बों और बुखार का कारण कुछ और हो सकता है। हमने डेंगी का (IgM) टेस्ट किया तो वह पॉजिटिव आया।

मगर मां को डेंगी का कोई भी लक्षण नहीं था। नवजात बच्चों में अगर डेंगी पॉजिटिव आता भी है तो उनकी माताएं भी पॉजिटिव होती हैं। यानी मां से बीमारी बच्चों में फैलती है। उसे डेंगी का वर्टिकल ट्रांसमिशन कहते हैं। मगर इस मामले में ऐसा नहीं था। यह डेंगी का होरिजोंटल ट्रांसमिशन था। अर्थात बच्चे को मच्छर ने काटा था। डेंगी मच्छर छोटे बच्चे को काटे और डेंगी हो जाए ऐसा बेहद कम होता है। लाखों में कोई एक केस ही ऐसा होता है। बच्चे को 7 दिन पिम्स में दाखिल किया गया। अब वह ठीक हो चुका है और उसे डिस्चार्ज कर दिया गया है।

DR JATINDER 3

डॉ. जतिंदर सिंह से 98155 00872 पर संपर्क कर सकते हैं।

 

डॉ. जतिंदर ने बताया कि इस केस से हमें यही साबित होता है कि डेंगी किसी को भी नहीं छोड़ता। यह 7 दिन के बच्चे को भी हो सकता है और 100 साल के बुजुर्ग को भी। इसलिए बच्चों को मच्छरों से बचाएं। मच्छरदानी और बाकी उपाय करें। सुबह और शाम पूरी बाजू के कपड़े ही डालें। इस बीमारी से बचने का एक ही तरीका है- आप मच्छर को अपने शरीर से दूर रखें।

(डेंगी मादा मच्छर के काटने से होने वाली एक बीमारी है जिससे हर साल भारत में लाखों लोग प्रभावित होते हैं। डेंगू डेंगी का ही विकृत नाम है। असल में शब्द डेंगी है लेकिन हिंदी मीडिया और आम भाषा में इसे डेंगू कहा जाता है। हम अपने पाठकों को सही नाम बता रहे हैं)

1 Comment

  • frolep rotrem
    October 25, 2020

    Very interesting info !Perfect just what I was looking for! “The only limit to our realization of tomorrow will be our doubts about reality.” by Franklin Delano Roosevelt.

Post a Comment

Translate »
error: Content is protected !!