“अब जिले के सभी 25 सेवा केंद्रों में बनेंगे सरबत सेहत बीमा योजना के ई-हैल्थ कार्ड: अमित कुमार पांचाल”

“अब जिले के सभी 25 सेवा केंद्रों में बनेंगे सरबत सेहत बीमा योजना के ई-हैल्थ कार्ड: अमित कुमार पांचाल”

ए.डी.सी ने लाभार्थियों को सेवा केंद्रों, कामन सर्विस सैंटरों के माध्यम से जल्द से जल्द ई कार्ड बनवाने की अपील की
 रविवार को भी जिले के सभी सेवा केंद्रों में सरबत सेहत बीमा योजना के बनाए जाएंगे कार्ड
 ई-कार्ड बनाने में बेहतरीन सेवा निभा रहे हैं कामन सर्विस सैंटर के वी.एल.ई.
कहा, सभी योज्य लाभार्थियों तक पहुंचाया जाएगा सरकार की इस योजना का लाभ

 

(HNI ब्यूरो ): अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर(सामान्य) अमित कुमार पांचाल ने बताया कि आयुष्मान भारत सरबत सेहत बीमा योजना के अंतर्गत अब जिले के सभी 25 सेवा केंद्रों में ई- हैल्थ कार्ड बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि पहले जिले के टाइप-1 व टाइप-2  के 11 सेवा केंद्रों में ही कार्ड बनाए जाते थे लेकिन हर लाभार्थी तक यह सुविधा पहुंचाने के लिए पंजाब सरकार की ओर से टाइप-3 सेवा केंद्रों में भी यह सुविधा शुरु कर दी है, जिसके अंतर्गत जिले के सभी 25 सेवा केंद्र कवर हो गए हैं। उन्होंने बताया कि इस रविवार 28 फरवरी को भी जिले के सभी सेवा केंद्रों में सरबत सेहत बीमा योजना के कार्ड बनाए जाएंगे।
अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि सरबत सेहत बीमा योजना के हर लाभार्थी का कार्ड बनाने के लिए इसे अभियान के रुप में लिया गया है। जिले में जहां लाभार्थी सेवा केंद्रों में अपने ई कार्ड बनवा रहे हैं वहीं गांव स्तर पर भी वे कामन सर्विस सैंटर के माध्यम से अपना कार्ड बनवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि कामन सर्विस सैंटर के विलेज लेवल इंटरप्रेन्योर(वी.एल.ई) गांव स्तर ई कार्ड बनाने में सराहनीय योगदान दे रहे हैं और कैंप लगाकर लोगों के ई कार्ड बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार की ओर से जिले में जागरुकता वैन भी गांवों व कस्बो में जाकर लोगों को कार्ड बनवाने के लिए जागरुक कर रही है। उन्होंने कहा कि 21 मार्च तक घूमने वाली यह वैन जिले के 250 से ज्यादा स्थानों को कवर करेगी। उन्होंने बताया कि इसके अलावा जिले की मार्किट कमेटियों में स्थायी कैंप लगाए गए हैं ताकि अधिक से अधिक लोग अपना ई-कार्ड बनवा सकें।
अमित कुमार पांचाल ने बताया कि कोई भी योज्य लाभार्थी अपने दस्तावेज ले जाकर अपनी रजिस्ट्रेशन करवा सकता है, जिसके अंतर्गत स्मार्ट राशन कार्ड लाभार्थी अपने आधार कार्ड या राशन कार्ड, छोटे व्यापारी अपने आधार कार्ड, राशन कार्ड या पैन कार्ड, जे-फार्म धारक व छोटे किसान अपने आधार कार्ड या राशन कार्ड, निर्माण कल्याण बोर्ड के अंतर्गत रजिस्टर्ड मजदूर अपने आधार कार्ड, राशन कार्ड या रजिस्ट्रेशन कार्ड व पीले कार्ड धारक पत्रकार अपना आधार कार्ड या पीला पहचान पत्र लेकर अपना ई-कार्ड बनवा सकते हैं। उन्होंने लगाए जा रहे कैंपों का लोगों को अधिक से अधिक लाभ लेने की अपील करते हुए कहा कि इस योजना के अंतर्गत आते परिवार अपने ई-कार्ड जरुर बनवाएं। यह कार्ड बनवाने की फीस 30 रुपए प्रति कार्ड है। उन्होंने बताया कि कोई भी व्यक्ति अपनी योज्यता वैबसाइट  www.sha.punjab.gov.in     पर जाकर अपने आधार कार्ड व अन्य पहचान पत्र नंबर को भर कर चैक कर सकता है। उन्होंने कहा कि जिले के सभी 13 सरकारी अस्पतालों के अलावा जिले के 15 प्राइवेट अस्पताल आयुष्मान भारत सरबत सेहत बीमा योजना के अंतर्गत सूचीबद्ध किए गए हैं।

52 Comments

Post a Comment

Translate »