फैक्ट्रियों से निकल रहा दूषित पानी, सीवरेज जाम, लोग नारकीय जीवन जीने को मजबूर, नगर निगम प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के अधिकारी सो रहे कुंभकर्णी नींद

फैक्ट्रियों से निकल रहा दूषित पानी, सीवरेज जाम, लोग नारकीय जीवन जीने को मजबूर, नगर निगम प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के अधिकारी सो रहे कुंभकर्णी नींद

(सुनीता/कैमरामैन-स्वदेश) : निगम प्रशासन, प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड, इलाका पार्षद, विधायक, सांसद की अनदेखी के चलते फोकल प्वाइंट, इंडस्ट्री एरिया के निवासी मौजूदा समय के अंदर कोरोना के साथ-साथ कई ओर बीमारियों से जूझ रहे है। लेकिन इलाका काउंसलर व पार्षद पति हर समस्या पर जनता से पल्ला झाड़ते नज़र आते है। HNI TV की टीम की ओर से जब फोकल प्वाइंट्, इंडस्ट्री एरिया इलाको का दौरा किया तो पाया कि लोग नरक जैसी जिंदगी जीने को मजबूर है व उनके अंदर नेताओं के खिलाफ काफी रोष है।

प्रदूषण बोर्ड व निगम प्रशासन की अनदेखी के चलते इंड्रस्टी एरिया के निवासी गंदा पेयजल पीने व केमिकल युक्त पानी – हवा में जीने को मजबूर हो रहे है। दोनो विभागों में तालमेल की कमी के चलते इंड्रस्टी एरिया के निवासी फैक्टरीयो से निकलने वाले केमिकल युक्त पानी व वायु में छोड़े जाने वाले धुंए से आहत है। जिससे सिर्फ आस पास स्तिथ कुछ रिहायशी इलाके ही नही , फैक्ट्रीयो में रहने वाले श्रमिक व उनके परिजन भी पीड़ित है। जो कई बीमारियों के शिकार है। किसी को दमा , तो किसी को पीलिया हो जाता है।

यही नही कई लोग आखों की बीमारी से भी पीड़ित है। लेकिन प्रदूषण बोर्ड की ओर से लोगो के जीवन से खिलवाड़ कर रही इन फैक्ट्री वालो के खिलाफ कोई सख्त एक्शन नही लिया जाता । जिस कारण दिन ब दिन फैक्टरी वालों के हौंसले बढ़ते जा रहे है। सड़कों पर भी पानी बिखरे रहने से चर्म रोग हो रहे है।

सन्त सीचेवाल भी उठा चुके है मसला
फ़ैक्टरियों से निकलने वाले केमिकल युक्त पानी से नदिया, नहरे दूषित होने का मसला सन्त सीचेवाल भी उठा चुके है। जिसके बाद कुछ फैक्टरियों पर कार्यवाही हुई थी। लेकिन बाद में वही ढाक के तीन पात जैसी स्थिति हो गई। जिसके बाद एक बार फिर फैक्टरी वालो के हौंसले बढ़ गए व बेखोफ वह प्रदूषण फैला रहे है।

लोगो ने किया रोष प्रदर्शन, हाईवे जाम की चेतावनी
टूटी सड़को से आहत इलाके के लोगो ने निगम प्रशासन, जिला प्रशासन, इलाका कॉन्सलर के खिलाफ रोष प्रदर्शन किया । इस दौरान सभी विभागों व प्रदूषण बोर्ड के ख़िलाफ रोष जाहिर करते हुए चेतावनी दी यदि उन्हें टूटी सड़कों- सीवरेज जाम व अन्य समस्याओं से निजात न मिली तो वह हाइवे जाम करेगे।

सेवादार रोशन लाल का क्या है कहना ?
दरगाह पंजपीर के सेवादार रोशन लाल ने कहा कि फैक्ट्रियों से निकलने वाला गंदा पानी सड़कों पर खड़ा रहने के कारण बहुत दिक्क्त का सामना करना पड़ रहा है। जहाँ भक्तजन गंदे पानी से निकल कर दरगाह में आने को मजबूर होते है। वही दरगाह के पार्क में लगे पौधे भी केमिकल वाले पानी से खराब हो रहे है। प्रशासन को इस तरफ ध्यान दे समस्या से निजात दिलानी चाहिए।

इलाका निवासी सरबजीत का क्या है कहना ?

इलाका निवासी परमजीत सिंह ने कहा कि फेक्ट्रियो के गंदे पानी के जमावड़े के कारण जहा निकलने में दिक्क्त आती है। वही पानी के जमावड़े के कारण कोरोना के साथ साथ ओर बीमारियां फैलने का भी डर सता रहा है। सरकार को चाहिए कि इस तरफ ध्यान दे समस्या से निजात दिलाए।

फैक्ट्री में काम करने वाले श्रमिक का क्या है कहना ?इलाके में एक फैक्ट्री में रहने वाले श्रमिक ने कहा कि इससे उन्है फेक्ट्री व क्वाटर में आने जाने में दिक्क्त आती है। जिला प्रशासन से मांग है कि समस्या से जल्द से जल्द निजात दिलाए।

इलाका पार्षदपति रवि सेनी का क्या है कहना ?इलाका पार्षदपति रवि सेनी से जब इलाके की समस्याओं के बारे में पूछा तो अधिकतर बार यही जबाब दिया कि समस्याओं से निजात के लिए कदम उठाए जा रहे है। जल्द ही सुपर सेक्शन मशीन से सीवरेज जाम की समस्याओं से निजात मिलेगी। जो फैक्टरीयो से रात को गंदा पानी सड़कों पर फेका जा रहा है उनसे निजात के लिए अफसरों को कह एक्सीयन व एसडीओ की ड्यूटी लगाई जाएगी। इसके इलाका यह जो समस्या है वह लगभग 15 साल से है। जो कि अकाली भाजपा गठबंधन सरकार ने दूर करनी थी। जो नही की। वह अब विधायक बावा अवतार हेनरी करवा रहे है।

Post a Comment

Translate »
error: Content is protected !!