“भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा पंजाब में गेहूँ की खऱीद के लिए सी.सी.एल. मई के आखिर तक बढ़ाया”

HNI-logo

“भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा पंजाब में गेहूँ की खऱीद के लिए सी.सी.एल. मई के आखिर तक बढ़ाया”

मई 2021 के आखिर तक 24612.19 करोड़ रुपए तक स्वीकृत सीमा बढ़ाई

भारतीय रिज़र्व बैंक (आर.बी.आई.) द्वारा राज्य में चल रहे गेहूँ के खऱीद सीज़न के लिए नगद सीमा कजऱ् (सी.सी.एल.) मई, 2021 के आखिर तक के लिए बढ़ा दिया है।

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि आर.बी.आई. ने मई, 2021 के आखिर तक 2953.46 करोड़ रुपए की सी.सी.एल. बढ़ाई है। इस वृद्धि से अप्रैल 2021 के आखिर तक के लिए पहले ही मंज़ूर की गई सी.सी.एल. 21658.73 अब मई 2021 के आखिर तक के लिए 24612.19 करोड़ रुपए हो गई है।

रबी मंडीकरण सीज़न 2021-22 के लिए नए खाते एक के अधीन गेहूँ की खऱीद के लिए समय सीमा में की गई वृद्धि का विषय इस शर्त के साथ जोड़ा गया है कि राज्य सरकार यह यकीनी बनाएगी कि एस.बी.आई. द्वारा फंड जारी किए जाएंगे। यह फंड सिफऱ् तब जारी किए जाते हैं जब पंजाब सरकार, भारत सरकार के वित्त मंत्रालय से प्राप्त भारत के संविधान की धारा 293 (3) के अधीन सहमति पत्र सौंप देती है और यह राज्य सरकार के सारे अनाज क्रैडिट खाते स्टॉक कीमत के मुकम्मल भुगतान की तस्दीक करने के साथ जोड़ा गया है।

 

Post a Comment

Translate »